Kids Story in Hindi Pdf /  दिखावे का फल हिंदी की 4 हिंदी कहानियां जरूर पढ़ें

Kids Story in Hindi Pdf / दिखावे का फल हिंदी की 4 हिंदी कहानियां जरूर पढ़ें

Kids Story in Hindi मित्रों इसमें 4 Kids Stories in Hindi दी गयी है।  सभी Babies Story in Hindi Pdf बहुत ही शिक्षाप्रद और हिंदी है। 

 

 

 

हिम्मत ( Child Kids Story in Hindi Pdf )

 

 

 

 

 

1- किसान अपने खेतों की जुताई कर रहा था। अचानक उसके बैल हल के साथ बहुत तेजी से दौड़ने लगे। यह देखकर किसान परेशान हो गया अगर वह हल छोड़ देता तो बैल के पैर में लगने का डर था हल नहीं छोड़ने पर बैल के साथ ही घिसटना पड़ता।

 

 

 

 

 

उसने तुरंत ही हल में बधी रस्सी जो बैलो के गले से सम्बद्ध थी उसे जोर से खींचा। बैल धीरे-धीरे स्वतः ही रुक गए। किसान को चोट तो बहुत ही लगी वह बहुत थक भी गया था और उसे खेत की जुताई भी करनी थी। अगर वह आराम करने लगता तब उसके बैल को आदत लग जाती वह उसे रोज ही परेशान करते।

 

 

 

 

 

इसलिए किसान ने हिम्मत दिखाई और खेत के कार्य में लग गया और उस दिन के बाद से बैल भी किसान को परेशान नहीं करते थे। शायद उन सबों को भी मालूम हो गया था कि यह कार्य करना ही होगा।

 

 

 

 

 

Moral Of This Story – किसान अपने आराम का ख्याल करता तब उसके बैल उसे प्रतिदिन परेशान करते जिससे उसका कार्य नहीं हो पाता। संकट की घड़ी में संयम और हिम्मत से कार्य करना चाहिए।

 

 

 

 

 

 

कभी दिखावा नहीं करना चाहिए ( Kids Story in Hindi Read )

 

 

 

 

Kids Story in Hindi

 

 

 

 

 

२- एक युवक मैनेजमेंट की परीक्षा में सफल होता है और साक्षात्कार के बाद उसकी अच्छी कंपनी में नौकरी लग जाती है।  उसे काम करने के लिए कंपनी की तरफ से अलग से केबिन दी जाती है।

 

 

पहले दिन जब वह आफिस आता है और शानदार कुर्सी पर बैठकर अपनी ऑफिस को निहार रहा होता है तभी केबिन के दरवाजे पर किसी की दस्तक होती है।
वह देखता है कि दरवाजे पर एक साधारण व्यक्ति रहता है।  वह युवक उस व्यक्ति को अंदर बुलाने के बजाय उसे आधा घंटा बाहर बैठने के लिए कहता है।

आधा घंटा बीतने के बाद वह व्यक्ति पुनः अंदर आने की अनुमति मांगता है।  युवक उसे अनुमति तो दे देता है परन्तु उसके बाद वह फोन पर बात करने लगता है और काफी समय तक वह फोन पर बातें करता है और फोन पर बहुत डींगे हांकता है।

सामने वाला व्यक्ति आश्चर्य से उसकी और देखता है।  बात ख़त्म होने के बाद वह युवक उस व्यक्ति से पूछता है, ” तुम किसलिए यहां आये हो ? “
वह व्यक्ति विंनम्र भाव से बोला, ” साहब मैं टेलीफोन रिपेयर करने आया हूँ।  मुझे कहा गया था कि जिस फोन से आप बात कर रहे थे वह १० दिन से बंद है। “

व्यक्ति की बात सुनते ही वह युवक शर्म ले लाल हो गया और अपनी नज़रे झुकाकर कमरे से बाहर चला जाता है।  उसे अपने दिखावे का फल मिल चुका था।

Moral – इस कहानी से यही शिक्षा मिलती है कि कभी भी दिखावा नहीं करना चाहिए और हर किसी का सम्मान करना चाहिए अन्यथा उस युवक की तरह हमें भी शर्मिन्दा होना पड़ सकता है। 

किड्स स्टोरी इन हिंदी न्यू

3- श्री कान्हा के चमत्कार और लीलाओं के बारे में भला कौन नहीं जानता है।  वह सर्वशक्तिमान थे।  उन्होंने दुष्टों को मारने के लिए कई लीलाएं रचीं।  उन्ही में से एक लीला के कारण उन्हें रणछोड़ कहा गया। आज इस पोस्ट में हम उसी लीला के बारे में जिक्र करने जा रहे हैं।

 

 

 

 

एक बार मगधराज जरासंध ने भगवान् श्रीकृष्ण को युद्ध के लिए ललकारा।  जरासंध भगवान् श्रीकृष्ण से शत्रुता रखता था। जरासंध ने युद्ध में अपने साथ यवन देश के राजा कालयवन को नहीं साथ ले लिया।

 

 

 

 

कालयवन को भगवान् शिव से यह वरदान था कि उसे कोई भी सूर्यवंशी या चंद्रवंशी नहीं मार सकता है और ना ही युद्ध में हरा सकता है। कालयवन को ताकत से भी मारा नहीं जा सकता था।

 

 

 

 

इस वरदान के कारण वह निर्दयी हो गया था। उसे इसका घमंड हो गया था।  जरासंध के कहने पर उसने मथुरा पर आक्रमण कर दिया।  भगवान् श्रीकृष्ण उसे प्राप्त वरदान के बारे में जानते थे, इसलिए वे रणभूमि छोड़कर वहाँ से भाग निकले हुए एक अँधेरी गुफा में आ गए।

 

 

 

 

भगवान श्रीकृष्ण जिस गुफा में छिपे थे, उसमें पहले से ही इक्ष्वाकु नरेश मांधाता के पुत्र और दक्षिण कोसल के राजा मुचकुन्द गहरी नीद में सोये हुए थे।

 

 

 

दरअसल, उन्होंने असुरों के साथ युद्ध करके देवताओं को जीत दिलाई थी और लगातार कई दिनों तक युद्ध करने के कारण वे काफी थक गए थे।  इसलिए भगवान इंद्र ने उनसे सोने का आग्रह किया और उन्हें वरदान दिया कि जो कोई भी उन्हें नींद से जगायेगा वह जलकर भस्म हो जाएगा।

 

 

 

 

इसे भी पढ़ें Moral Stories For Childrens in Hindi Pdf / ऋषिकुमार नचिकेता की कहानी

 

 

 

 

 

राजा मुचकुन्द को मिले इस वर की बात भगवान श्रीकृष्ण को पता थी और इसीलिए वे कालयवन को अपने पीछे उस गुफा तक लाये।  उसके बाद कालयवन को भ्रमित करने के लिए अपना पीताम्बर राजा मुचकुन्द के ऊपर डाल दिया।

 

 

 

 

राजा को देखकर कालयवन को लगा कि श्रीकृष्ण डरकर इस अंधेरी गुफा में सो गए हैं।  ऐसा समझकर उसने राजा मुचकुन्द को एक जोरदार लात मारी। राजा की नीद टूट गयी और वे उठ गए।  उनके उठते ही कालयवन जलकर भस्म हो गया।

 

 

 

 

Moral – इस कथा से हमें यह शिक्षा मिलती है कि किसी बड़े कार्य को पूरा करने के लिए दो कदम पीछे भी हटना पड़े तो हट जाना चाहिए। 

 

 

 

 

इसे भी पढ़ें ——– 1- Shikshaprad Bal Kahani in Hindi / छोटी शिक्षाप्रद बाल कहानी हिंदी में

 

2- Stories For Kids in Hindi / जीवन एक संघर्ष है हिंदी की बहुत अच्छी कहानी

 

3- Education Story in Hindi Short / बच्चों की शिक्षाप्रद 3 कहानियां हिंदी में

 

 

 

किसान Kids Story in Hindi 

 

 

Kids Story in Hindi 
Kids Story in Hindi

 

 

 

 

4- एक किसान के जीवन में तरह-तरह की समस्या आती है क्या किसान खेती करना बंद कर देता है ? कभी उसे बीज नहीं मिल पाता कभी समय पर खाद नहीं मिलती कभी सिंचाई की समस्या। अगर इन सबसे बच गया तो प्राकृतिक समस्या, फिर भी किसान अपनी हर समस्याओं से दो हाथ करने को तैयार रहता है।

 

 

 

 

विनोद एक किसान था। उसने अपने खेत में चने बोए थे। पेड़ों पर बैठे बंदरों ने उसे चने बोते हुए देख लिया था। विनोद जब घर गया तो बंदरों ने उसके खेत से चने कुदेर कर निकाला और खाने लगे। कुछ दिन बाद विनोद ने खेत में पानी भर दिया अब बन्दर कींचड़ की डर से खेत में नहीं आते थे।

 

 

 

 

चना अब फलने लगा बंदरों की समस्या फिर उत्पन्न हो गई। विनोद ने अपने कुत्ते को चौकीदारी पर लगा दिया, कुत्ता और बन्दर दोनों एक दूसरे के लिए अजनबी थे। जब भी वे चने खाने के लिए आते कुत्ता बंदरों को दौड़ता और बन्दर भाग जाते। कुत्ते की चौकीदारी से चने की रखवाली हो गई। चना तैयार हो गया था, विनोद ने चना काट लिया। अब प्रकृतिक समस्या की बारी थी।

 

 

 

 

 

बरसात हो गई। दो दिन सूखाने के पश्चात् फिर चने की मड़ाई करके दाना निकाला जा सका। अगर विनोद समस्याओ से दो हाथ नहीं करता तब उसे चने का एक दाना भी हाथ नहीं लगता।

 

 

 

 

 

Moral Of This Story -समस्याओं से भागकर नहीं लड़कर जीता जा सकता है।

 

 

 

 

मित्रों यह Kids Story in Hindi Pdf आपको कैसी लगी जरूर बताएं और Hindi Stories For Kids की तरह की दूसरी कहानी के लिए इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और Hindi Story For Kids की तरह की दूसरी कहानी नीचे की लिंक पर पढ़ें।

 

 

1- Prerak Story in Hindi Written / हिंदी की बहुत ही प्रेरक कहानी जरूर पढ़ें

 

2- Short Story in Hindi

 

3- Moral Stories in Hindi

 

 

 

Kids Story in Hindi